MP Samvida Shikshak Varg 2 Exam Syllabus 2020

MP Samvida Shikshak Varg 2 Exam Syllabus 2020

दोस्तों आज हम इस पेज पर आपके लिए एक नई खुशखबरी ले कर आए हैं जिसका आप सभी को बहुत समय से इंतजार था आज आपका इंतजार खत्म होता हैं क्योंकि मध्यप्रदेश प्रोफेशनल बोर्ड ने MP Samvida Shikshak Varg 2 अर्थात मिडिल स्कूल के शिक्षक के पदों के लिए नोटिफिकेशन जारी किए हैं आप सभी जानकारी को विस्तृत पढ़ कर फ्रॉम भर सकते हैं जिससे फ्रॉम भरने में आपके द्वारा कोई गलती ना हो।


MP PEB मध्यप्रदेश में MP Samvida Shikshak Varg 2 के लिए नोटिफिकेशन जारी किया हैं अधिक जानकारी के लिए आप  peb.mp.gov.in पर क्लिक करके Exam Pattern की विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं ये परीक्षा Online ली जाएगी आप व्यापम की वेबसाइट पर जा कर Admit Card Download कर सकते हैं।

MP Samvida Shikshak Varg 2 Exam Syllabus 2020

संविदा शिक्षक वर्ग 2 में सिर्फ एक प्रश्न पत्र 150 अंकों का होगा। एक प्रश्न के लिए एक अंक दिया जाएगा इस पेपर में निगेटिव मार्किंग नहीं होगी। सही उत्तर देने पर एक अंक मिलेगा।

बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र

भाषा-1 (हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत या उर्दू में से कोई एक भाषा)
भाषा-2 (हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत या उर्दू में से कोई एक भाषा)
(अ) गणित  (गणित शिक्षक के लिए)
 
(ब) विज्ञान (विज्ञान शिक्षक के लिए)

(स) सामाजिक विज्ञान (सामाजिक विज्ञान शिक्षक के लिए)

(द) मुख्य भाषा ( हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत या उर्दू में से कोई एक भाषा )

बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र

(अ) बाल विकास

बाल विकास की अवधारणा एवं इसका अधिगम से संबन्ध ।
विकास और विकास को प्रभावित करने वाले कारक ।
बाल विकास के सिद्धांत ।
बालकों का मानसिक स्वास्थ्य एवं व्यवहार संबन्धी समस्याएं ।
वंशानुक्रम एवं वातावरण का प्रभाव ।
समाजीकरण प्रतिक्रिया, सामाजिक जगत एवं बच्चे ( शिक्षक, अभिभाव साथी )
पियाजे, पावलव, कोहलर और थार्नडाइक, रचना एवं आलोचनात्मक रूप ।
बाल केंद्रित एवं प्रगतिशील शिक्षा की अवधारणा ।
बुद्धि की रचना का आलोचनात्मक स्वरुप और उसका मापन, बहुआयामी बुद्धि ।
व्यक्तितत्व और उसका मापन ।
भाषा और विचार ।
सामाजिक निर्माण के रूप में जेंडर, जेंडर की भूमिका, लिंगभेद और शैक्षिक प्रथाएं ।
अधिगम कर्ताओं में व्यक्तिगत भिन्नताओं, भाषा, जाती, लिंग, संप्रदाय, धर्म आदि की विषमताओं पर आधारित भिन्नताओं की समझ ।
अधिगम के लिए आकलन और अधिगम का आंकलन में अंतर, शाला आधारित आंकलन, सतत एवं समग्र मूल्यांकन स्वरूप और प्रथाएं ( मान्यताएं )

(ब) समावेशित शिक्षा की अवधारणा एवं विशेष आवश्यकता वाले बच्चों की समझ।

अलाभान्वित, एवं वंचित वर्गों सहित विविध पृष्ठभूमियों के अधिगमकर्ताओं की पहचान ।
अधिगम, कठिनाईयों, ‘छति’ आदि से ग्रस्त बच्चों की आवश्यकता की पहचान ।
प्रतिभावान, सृजनात्मक, विशेष क्षमता वाले अधिगतकर्ताओं कि पहचान ।
समस्याग्रस्त बालक पहचान एवं निदानात्मक पक्ष ।
बाल अपराध कारण एवं प्रकार ।

(स) अधिगम और शिक्षा शास्त्र (पेडागीजी)

बच्चे कैसे सोचते और सीखते हैं, बच्चे शाला प्रदर्शन में सफलता प्राप्त करने में क्यों और कैसे असफल होते हैं ।
शिक्षण और अधिगम की मूलभूत प्रतिक्रिएं, बच्चों के अधिगम की रणनीतियां, अधिगम एक सामाजिक प्रक्रिया के रूप में, अधिगम का सामाजिक संदर्भ ।
समस्या समाधानकर्ता और वैज्ञानिक- अन्वेषण के रूप में बच्चा ।
बच्चों में अधिगम की वैकल्पिक धारणाएं, बच्चों की त्रतियों को अधिगम प्रक्रिया में कड़ी के रूप में समझना, अधिगम को प्रभावित करने वाले कारक एवं अवधान और रुचि ।
संज्ञान और रुचि ।
अभिप्रेरणा और अधिगम ।
अधिगम में योगदान देने वाले कारक- व्यक्तिगत और पर्यावरण
निर्देशन एवं परामर्श
अभिक्षमता और उसका मापन
स्मृति और विस्मृति

हिंदी भाषा

भाषायी समझ/अवबोध : भाषायी समझ/अवबोध के लिए दो अपठित दिए जाएंगे जिसमें एक गद्यांश (नाटक/एकांकी/घटना/निबंध/कहानी/आदि से) तथा दूसरा अपठित पद्रय के रूप में से समझ/ अवबोध, व्याख्या, व्याकरण, एवं मौखिक योग्यता से संबंधित प्रश्न किये जायेंगे, गद्यांश साहित्यिक/वैज्ञानिक/सामाजिक समरसता/तात्कालिक घटनाओं पर आधारित हो सकते हैं ।

अंग्रेजी भाषा

1. Reading Comprehension

Two short passage followed by short answer type question.

2. Vocabulary

(Level – X standard)

 One word substitution
Opposites
Synonyms
Phrases
Idioms/proverbs

3. Functional Gramma

(Level – X standard)

Articles
Modals
Determiners
Noun/pronoun
Adjective/Adverb
Narration
Prepositions
Tenses
Tenses
Transformation of sentences
Voices

4. Writing

(Level- X standard)

A factual description ( in about 40 words ) of any event or incident e.g. a report or a process based on given input/advertisement and notices/designing or drafting posters.
One essay
Writing letter/application based on given inputs. Letter types include,
1. Personal/informal letters

2. Application for a job

संस्कृत भाषा

भाषायी समझ/अवबोध : भाषायी समझ/अवबोध के लिए दो अपठित दिए जाएं जिसमें एक गद्यांश ( नाट्यांश/घटना/निबंध/कथा आदि से ) तथा दूसरा अपठित पद्रय के रूप में हो इस अपठित में से समझ/अवबोध, व्याख्या, व्याकरण एवं मौखिक योग्यता से संबंधित प्रश्न किए जाए, गद्यांश साहित्यिक/वैज्ञानिक/सामाजिक समरसता/तात्कालिक घटनाओं पर आधारित हो सकते हैं ।

उर्दू भाषा

जबान की फ़हम पर मबनी सवालात (भाषायी समझ)
 
गैर दरसी इक्तिबासात ( मालूमाती/अदबी/बयानिया/ड्रामा/साइसी) पर ज़बान की सलाहियत पर मबनी सवालात, कवायद ( ग्रामर ) और जुबानी इजहार की काबलियत पर मबनी सवालात पूछे जाएंगे ।

गणित

(अ) विषय वस्तु (Content)

1. संख्या पद्धत्ति

प्राकृत संख्या, पूर्ण संख्या एवं पूर्णाक की पहचान एवं समझ,
परिमेय संख्या एवं संक्रियाएँ,
बहुपद एंव परिमेय व्यंजक
घातांक एवं परिमेय घाताकों के लिए घाताकों के नियमों का अनुप्रयोग,

2. बीजगणित

बीजीय व्यंजक एवं इन पर संक्रियाएँ
अनुपात समानुपात, एकिक नियम, प्रतिशत, अनुक्रमानुमाती तथा व्युत्क्रमानुपाती विचरण,  साधारण ब्याज, चक्रवृद्धि ब्याज,
क़िस्त, लघुगणक,
एक चर राशि का एक घातीय समीकरण,
दो चर राशियों का रैखिक समीकरण,

3. ज्यामिति

मूल ज्यामितीय अवधारणाएं,
त्रिभुज के गुणधर्म,
कोण,
सममिति की अवधारणा,
व्रत,
समरूप त्रिभुज,

4. रचनाएं

त्रिभुज की रचना,
चतुर्भुज की रचना,

5. क्षेत्रमिति

आयताकार पथ का क्षेत्रफल,
पृष्ठीय क्षेत्रफल और आयतन,
व्रत का क्षेत्रफल,

6. सांख्यकी

दण्ड आलेख,
आयात चित्र,
माध्य, माध्यिका, बहुलक की गणना,
आवृति, संचयी आवृति,
व्रत, चित्र, आवृति वहुभुज खिंचना,।

(ब) Pedagogical issuse

गणित शिक्षक दवारा चिंतन एवं तर्कशक्ति का विकास,
पाठ्यक्रम में गणित का स्थान,
गणित की भाषा,
प्रभावी शिक्षण हेतु परिवेश आधारित उपयुक्त शैक्षिणिक सहायता सामग्री का निर्माण एवं उसका उपयोग करने की क्षमता का विकास करना है।

संक्षेप में,

इस पेज पर आप MP Samvida Shikshak Varg 2 Exam Syllabus की सम्पूर्ण जानकारी विस्तार से पड़ेगें जो परीक्षा की दृष्टि से जरूरी हैं क्योंकि यदि आप कोई परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो सिलेबस की वेश में तैयारी करें जिससे आपको सफलता जरूर मिलेंगी।

0 Comments