CID officer कैसे बने|How to be CID officer in Hindi me

Cid officer kaise Bane puri jankari: हमारे भारत देश में आज पढ़ाई का महत्व काफी बढ़ गया है, क्योंकि बढ़ती हुई आधुनिकता और टेक्नोलॉजी के जमाने में अब नौकरी देने वाली कंपनियों को भी स्मार्ट लोगों की आवश्यकता होती है, इसीलिए अब सभी कंपनियां नौकरी देने से पहले अभ्यर्थी की पढ़ाई लिखाई के बारे में जरूरी जानकारी का पता लगाती है।जो अभ्यर्थी जितना ज्यादा पढ़ा लिखा होता है, उसे नौकरी मिलने के उतने ही ज्यादा चांस होते हैं।

वैसे तो हमारे भारत देश में नौकरियों की कोई कमी नहीं है, परंतु हमारे देश की जनसंख्या ही इतनी ज्यादा है कि सबको नौकरी देना असंभव है, इसीलिए कई लोग नौकरी की बजाए बिजनेस में अपना हाथ आजमाते हैं। हमारे भारत देश में 12वीं कक्षा पास करने के बाद से ही विद्यार्थी अपने भविष्य को लेकर अपनी प्लानिंग चालू कर देते हैं और उन्हें भविष्य में जो बनना है, उसके लिए तैयारी शुरू कर देते हैं। हमारे भारत देश में प्राइवेट नौकरी से ज्यादा सरकारी नौकरी लोगों को पसंद आती है, क्योंकि सरकारी नौकरी में बहुत से लाभ मिलते हैं। जैसे कि एक तो इसमें पगार ज्यादा होती है और इसमें प्राइवेट नौकरी की तरह नौकरी खो जाने का खतरा नहीं रहता है, इसीलिए भारत के अधिकतर लड़के और लड़कियां सरकारी नौकरी पाने की इच्छा रखते हैं।

भारत में सरकारी नौकरी के कई ऐसे क्षेत्र हैं, जहां पर आप अपना करियर बना सकते हैं। उसी में से एक क्षेत्र के बारे में हम आपको आज के इस आर्टिकल में जानकारी देने वाले हैं। आजके इस आर्टिकल में हम आपको सीआईडी के बारे में जानकारी देने वाले हैं।आज के इस आर्टिकल में आप जानेंगें कि सीआईडी क्या है? सीआईडी का फुल फॉर्म क्या होता है?सीआईडी बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है?सीआईडी की सैलरी कितनी होती है? सीआईडी कौन से काम करती है?सीआईडी की पावर क्या-क्या होती है, तो चलिए चलते हैं, आज के इस आर्टिकल पर और जानते हैं कि आखिर सीआईडी ऑफिसर कैसे बने।

सीआईडी क्या है|What is CID in Hindi me 

सबसे पहले तो हम आपको सीआईडी का फुल फॉर्म बता देते हैं। सीआईडी का अंग्रेजी में फुल फॉर्म होता है, क्रिमिनल इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट।इसे शार्ट भाषा में सीआईडी कहा जाता है तथा इसे हिंदी में अपराध जांच विभाग कहा जाता है। एक सीआईडी ऑफिसर हमारे भारतीय सरकार के लिए डिटेक्टिव एजेंसी का काम करता है।सीआईडी ऑफिसर भारत सरकार के आदेश मिलने के बाद किसी घटना की जांच करते हैं। आमतौर पर जब कोई केस पुलिस से नहीं सुलझता है, तो उसकी जांच सीआईडी ऑफिसर को सौंपी जाती है। सीआईडी ऑफिसर एक टीम बनाकर उस केस की जांच करते हैं और अपनी रिपोर्ट सरकार को प्रस्तुत करते हैं।

सीआईडी की स्थापना कब की गई|Estblishment of CID in Hindi me 

हम में से बहुत लोग शायद यही जानते होंगे कि सीआईडी की स्थापना भारत सरकार ने की है परंतु यह गलत बात है। सीआईडी की स्थापना, जब हमारा भारत देश आजाद नहीं हुआ था, तो उसके पहले ही की गई थी। सीआईडी की स्थापना साल 1906 में ब्रिटिश सरकार ने की थी। यह पुलिस विभाग का हो एक संगठन होता है, जो गुप्त तौर पर अपराधियों का पता लगाता है। सीआईडी भारत सरकार के लिए जासूस का काम करती है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सीआईडी स्पेशल ब्रांच से अलग होती है। यह आम तौर पर एक राज्य के अंदर होने वाले केसों की जांच करती है तथा जब राज्य सरकार आदेश करती है, तभी यह जांच करने के लिए तैयार होती है। सामान्य तौर पर जब किसी शिकायतकर्ता को यह लगता है कि पुलिस उसके केस की जांच सही तरीके से नहीं कर रही है, तो वह राज्य सरकार से सीआईडी जांच की मांग करता है और जब राज्य सरकार सीआईडी जांच के लिए अप्रूवल देती है, तो सीआईडी ऑफिसर शिकायतकर्ता के केस की जांच करते हैं।

सीआईडी का काम क्या है|Works of CID in Hindi me 

सीआईडी ऑफिसर अनेक प्रकार के काम करते हैं। जैसे सीआईडी ऑफिसर किसी हत्या के केस की जांच करते हैं। गैंबलिंग धोखाधड़ी या बहुत बड़ी डकैती की जांच भी सीआईडी ऑफिसर करते हैं। इसके अलावा हाई प्रोफाइल बलात्कार के मामले की भी जांच सीआईडी ऑफिसर करते हैं।सीआईडी ऑफिसर जब किसी मामले की जांच करते हैं तो सबसे पहले वह उस मामले से संबंधित फैक्ट और सबूतों को इकट्ठा करते हैं और इसके अलावा वह मामले से जुड़े सभी व्यक्तियों से पूछताछ करते हैं और जब वह मुख्य अपराधी को पकड़ लेते हैं, तो फिर उसे अदालत में पेश करते हैं और अदालत के मांगने पर अपने गवाह और सबूत भी पेश करते हैं, जिसके बाद अगर आरोपी के ऊपर आरोप साबित हो जाता है, तो कोर्ट उसे सजा सुनाती है। सीआईडी ऑफिसर को कई बार सबूतों को इकट्ठा करने के लिए एक राज्य से दूसरे राज्य में भी जाना पड़ता है और वहां की लोकल पुलिस की मदद भी लेनी पड़ती है।

सीआईडी ऑफिसर का ड्रेस कोड|Dress of CID officer 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जो व्यक्ति सीआईडी ऑफिसर होता है, वह पुलिस की तरह वर्दी नहीं पहनता है, बल्कि वह ज्यादातर सिविल ड्रेस में ही रहते हैं। इसके अलावा जब वह शपथ पत्र ग्रहण करते हैं, तो वहां इन्हें बताया जाता है कि जहां तक संभव ना हो, तब तक सीआईडी ऑफिसर,सीआईडी की ड्रेस मे नहीं बल्कि सिविल ड्रेस में ही रहे। सीआईडी ऑफिसर अपने सीनियर को सैल्यूट नहीं करते है। सीआईडी ऑफिसर के सिविल ड्रेस में रहने के पीछे यह कारण है कि इन्हें जल्दी कोई पहचान ना पाए।

सीआईडी के लिए रैंक|Ranks of Cid officer 

- पुलिस बलों में CID के प्रमुख अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) हैं।

- अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस (ADGP)

- पुलिस महानिरीक्षक (IGP)

- महा उपनिरक्षिक (DIG)

- पुलिस अधिक्षक (SP)

- पुलिस उप अधिक्षक (Dy,S.P.)

- इंस्पेक्टर

- अधीक्षक (सुपी्रटेंडेंट)

- अवर निरीक्षक (सब-इंस्पेक्टर)

- सहायक अवर निरीक्षक (सब इंस्पेक्टर)

- सिपाही (कांस्टेबल)

सीआईडी की तैयारी कैसे करें|How to prepare for Cid officer exam in Hindi me 

सबसे पहले तो आपको बता दें कि सीआईडी में कई पद होते हैं। एक सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए एक यूनिफॉर्म ऑफिसर के रूप में कम से कम अभ्यर्थी के पास 2 साल का एक्सपीरियंस होना जरूरी है।उसके बाद अभ्यर्थी सीआईडी ऑफिस पोस्ट पर ट्रांसफर के लिए एप्लीकेशन दे सकते हैं, जहां पर अभ्यर्थियों को सीआईडी ऑफिसर की ट्रेनिंग प्रदान की जाती है।

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए पढ़ाई|Education Qualification to be CID officer in Hindi me 

जो अभ्यर्थी सीआईडी ऑफिसर बनना चाहता है, उसे कम से कम 12वीं कक्षा पास करना जरूरी है। इसके अलावा अगर आप सीआईडी में अच्छा पद प्राप्त करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको किसी भी विषय से ग्रेजुएशन करना जरूरी है तथा इसके अलावा उम्मीदवार को भारतीय नागरिक होना भी जरूरी है। सीआईडी में ऑफिसर बनने के लिए सभी पोस्टों पर पुरुष और महिला दोनों लोग आवेदन कर सकते हैं।

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए व्यक्तिगत योग्यता|Personal Skills to be CID officer in Hindi me 

जो अभ्यर्थी सीआईडी ऑफिसर बनने की इच्छा रखते हैं या फिर बनने की तैयारी कर रहे हैं, उन्हें सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए अपने अंदर बेहतर कम्युनिकेशन स्किल का निर्माण करना होगा। इसके अलावा उन्हें शातिर दिमाग होना भी जरूरी है क्योंकि अक्सर सीआईडी में कई केस ऐसे होते हैं, जिसमें मानसिक शक्ति का इस्तेमाल करके काम करना होता है।अभ्यर्थी का शारीरिक रूप से मजबूत होना भी जरूरी है एवं उसके पास किसी व्यक्ति को पहचानने की क्षमता और किसी भी काम को सुलझाने की समझ होना जरूरी है।

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए उम्र|Age to be CID officer in Hindi me 

जो लोग सामान्य वर्ग से संबंध रखते हैं, वह लोग 20 साल से लेकर 27 साल तक सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए प्रयास कर सकते हैं। इसके अलावा ओबीसी समुदाय के लोग 20 साल से लेकर 30 साल तक सीआईडी ऑफिसर बन सकते हैं तथा जो लोग अनुसूचित जाति और अनुसूचित जन जाति से संबंध रखते हैं, वह लोग 20 साल से लेकर 32 साल तक सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए प्रयास कर सकते हैं।

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए फिजिकल फिटनेस|Physical fitness for CID officer in Hindi me 

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए पुरुष अभ्यर्थियों की ऊंचाई 165 सेंटीमीटर तथा महिला अभ्यर्थियों की ऊंचाई 150 सेंटीमीटर होना जरूरी है। इसके अलावा पहाड़ी क्षेत्र के पुरुषों के लिए 5 सेंटीमीटर की ऊंचाई का माप रखा गया है इसके साथ ही पुरुषों की छाती बिना फुलाए 76 सेंटीमीटर और फुलाकर 80 सेंटीमीटर होनी चाहिए, साथ ही उन्हें आंखों से संबंधित कोई रोग नहीं होना चाहिए।

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए कितने प्रयास कर सकते है|Attempts to be CID officer in Hindi me 

जो लोग सामान्य वर्ग से संबंध रखते हैं, वह लोग सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए 4 बार प्रयास कर सकते हैं। इसके अलावा अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोग चाहे कितनी भी बार सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए प्रयास कर सकते हैं तथा जो लोग ओबीसी श्रेणी यानी कि अन्य पिछड़ा वर्ग से संबंध रखते हैं, वह लोग 7 बार सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए प्रयत्न कर सकते हैं।

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए चयन प्रक्रिया|Selection process of CID officer in Hindi me 

सीआईडी ऑफिसर भारतीय सरकार के लिए जासूसी का काम करता है और सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए तीन प्रक्रियाओं से अभ्यर्थियों को गुजरना होता है। वह कौन सी प्रक्रिया होती है, उसकी जानकारी हमने आपको नीचे दी है।

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए एग्जाम पैटर्न|Exam pattern for CID officer in Hindi me 

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए सबसे पहले आपको लिखित परीक्षा देनी होती है और जब आप लिखित परीक्षा को पास कर लेते हैं तो उसके बाद आपका फिजिकल फिटनेस टेस्ट लिया जाता है और इसके बाद आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए आयोजित होने वाली परीक्षा तीन चरणों में होती है, इसकी जानकारी हमने आपको नीचे दी है। 

- टियर 1  

इस परीक्षा में सामान्य जागरूकता, सामान्य हिंदी, अंग्रेजी की समझ और क्वानटेटिव एप्टीट्यूड से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं।यह परीक्षा टोटल 200 मार्क की होती है और इस परीक्षा को देने के लिए अभ्यर्थियों को 2 घंटे का समय दिया जाता है। इसके अलावा इस परीक्षा में माइनस मार्किंग भी की जाती है। अगर आपको नहीं पता कि माइनस मार्किंग क्या होती है, तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अगर इस परीक्षा में आपने किसी भी सवाल का गलत जवाब दिया तो आपके 0.25 अंक काट लिए जाएँगे।

- टियर 2 

इस परीक्षा में क्वानटेटिव एबिलिटी और अंग्रेजी भाषा की समझ से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं।इस परीक्षा को देने के लिए 4 घंटे का समय दिया जाता है और यह परीक्षा टोटल 400 अंकों की होती है।अगर आपने इस परीक्षा में किसी सवाल का गलत जवाब दिया तो 0.50 अंक कटेंगे।

- टियर 3

जब आप ऊपर बताए गए दोनों चरणों को पास कर लेते हैं, तो उसके बाद आपका इंटरव्यू लिया जाता है। यह इंटरव्यू टोटल 100 अंकों का होता है और जब आप इस इंटरव्यू को पास कर लेते हैं, तो आपको सीआईडी ऑफिसर के पद की नियुक्ति दी जाती है।

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए तैयारी|Cid officer preparation in Hindi me 

अगर आप सीआईडी ऑफिसर बनना चाहते हैं तो आपको इसके लिए अच्छे से अपनी तैयारी करनी होगी, तभी आप एक सीआईडी ऑफिसर बन पाएंगे।

- सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए आप इससे संबंधित सीरियल को देखें। ऐसा करने से आपको यह फायदा होगा कि आप यह जान पाएंगे कि सीआईडी किस तरह काम करती है।

- सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए आपको अपने दिमाग को बहुत तेज बनाना होगा क्योंकि इसमें दिमाग का तेज होना बहुत ही जरूरी होता है, क्योंकि एक सीआईडी ऑफिसर के तौर पर आपको कई जटिल केसों को समझाना होता है, जिसमें दिमाग का काफी इस्तेमाल होता है।

- सीआईडी ऑफिसर बनने की परीक्षा में सफलता पाने के लिए आप इसकी पूर्व में जितनी भी परीक्षाएं हुई है, उनके पेपर इकट्ठा करें और उन में दिए गए सवालों को समझ कर उन्हें हल करने का प्रयास करें।ऐसा करने से आप प्रश्नों की कठिनता के बारे में जान पाएंगे। इसके अलावा रोजाना करंट अफेयर पर भी विशेष ध्यान दें। करंट अफेयर के बारे में जानने के लिए आप इंटरनेट और अखबार का सहारा ले सकते हैं, साथ ही आप अपने घर के आस-पास स्थित किसी कोचिंग इंस्टिट्यूट का सहारा भी पढ़ाई करने के लिए ले सकते हैं या फिर यूट्यूब पर ऑनलाइन कोचिंग भी प्राप्त कर सकते हैं।

सीआईडी ऑफिसर की सैलरी|salary of CID officer in India in Hindi me 

सीआईडी ऑफिसर की नौकरी एक सरकारी नौकरी होती है। इसलिए इसमें अच्छी तनख्वाह मिलती है। अगर हम सीआईडी ऑफिसर की महीने की सैलरी के बारे में बात करें तो इन्हें हर महीने ₹40000 तक की सैलरी मिलती है। इसके अलावा इन्हें अन्य भत्ते भी मिलते हैं, जैसे ग्रेड वेतन, महंगाई भत्ता, ट्रैवल यात्रा भत्ता, मेडिकल इंश्योरेंस और घर भत्ता इत्यादि।






0 Comments