Computer engineer कैसे बने|How to be Computer engineer in Hindi me

Computer engineer Banne ke Liye kya kare| यह जरूरी नहीं है कि कोई भी व्यक्ति के सभी सपने पूरे हो परंतु हम सपनों को पूरा करने की कोशिश तो कर ही सकते हैं।इस दुनिया में ऐसी कोई भी चीज नहीं है जो असंभव है सिवाय मौत को छोड़ कर। अगर हमें किसी लक्ष्य को प्राप्त करना है तो हमें उसके प्रति पूर्ण समर्पण दिखाना होगा और लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए पूरी निष्ठा से मेहनत करनी होगी। आज के समय में पढ़ाई का महत्व काफी बढ़ गया है क्योंकि बढ़ते हुए कंपटीशन को देखते हुए सभी स्टूडेंट को अपने कैरियर की चिंता 12वीं कक्षा पास करने के बाद ही होने लगती है।इसीलिए विद्यार्थी वर्ग 12वीं कक्षा पास करते ही अपने-अपने इंटरेस्ट के हिसाब से कोर्स का चुनाव करते हैं और उसकी पढ़ाई करते हैं

वैसे तो भारत में ऐसे कई कैरियर है जिसमें शामिल होकर अच्छी उन्नति की जा सकती है परंतु कंप्यूटर इंजीनियर की बात ही अलग है। कंप्यूटर इंजीनियर काफी अहम काम करता है और इसकी पढ़ाई भी काफी मुश्किल होती है परंतु जो कंप्यूटर इंजीनियर बन जाता है उसे फिर अच्छी कमाई होने लगती है।

अगर आपका भी सपना कंप्यूटर इंजीनियर बनने का है परंतु आपको इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है तो चिंता करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि आज के इस आर्टिकल में हम आपको कंप्यूटर इंजीनियर के बारे में जानकारी विस्तार से देने वाले हैं। आज के इस आर्टिकल में आप जानेंगे कि कंप्यूटर इंजीनियरिंग क्या है? कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए शैक्षिक योग्यता क्या होनी चाहिए?कंप्यूटर इंजीनियर बनने के बाद किस क्षेत्र में नौकरी मिलेगी इत्यादि, चलिए जानते हैं।

कंप्यूटर इंजीनियर क्या है|What is Computer Engineer in Hindi me

कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर इन दोनों की अच्छी जानकारी एक कंप्यूटर इंजीनियर को होती है।कंप्यूटर के सिस्टम और सॉफ्टवेयर के साथ Computer  engineer काम करता है।एक कंप्यूटर इंजीनियर कंप्यूटर के प्रोग्राम का निर्माण करता है जो कंप्यूटर चलाने वाले व्यक्ति की सहायता करते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कंप्यूटर प्रोग्राम उसका रखरखाव और विस्तारित करने का काम भी कंप्यूटर इंजीनियर ही करता है।अगर आप कंप्यूटर इंजीनियर बनने की इच्छा रखते हैं तो उसके लिए आपको कंप्यूटर साइंस और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की जानकारी होना महत्वपूर्ण है।

इंडिया का पहला कंप्यूटर इंजीनियर|Indias First Computer engineer in Hindi Details 

अगर हम इंडिया के पहले कंप्यूटर इंजीनियर की बात करें तो उनका नाम विजय पांडुरंग भटनागर था। इनका जन्म साल 1946 में 11 अक्टूबर को हुआ था। यह एक आईटी लीटर, कंप्यूटर साइंटिस्ट और एजुकेशनलिसट भी थे। इन्होंने ही सुपर कंप्यूटर को बनाने में अपना योगदान दिया था।इन्होंने भारत के पहले सुपर कंप्यूटर "परम का" निर्माण किया था।

कंप्यूटर इंजीनियर का कौशल|Skills of Computer engineer in Hindi me

एक कंप्यूटर इंजीनियर के अंदर कई प्रकार के कौशल होने चाहिए।जैसे उनके अंदर टीम वर्क की एबिलिटी होनी चाहिए। इसके अलावा उनमे समस्या को समझ कर उसका समाधान निकालने की कला भी होनी चाहिए, साथ ही ज्यादा लंबे समय तक काम करने की क्षमता भी होनी चाहिए और उनका दिमाग थोड़ा क्रिएटिव होना चाहिए और उनके अंदर धैर्य भी होना आवश्यक है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कंप्यूटर के मुख्य 2 भाग होते हैं। पहला सॉफ्टवेयर और दूसरा हार्डवेयर, चलिए जानते हैं कि सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर में क्या अंतर है।

- सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में सॉफ्टवेयर डेवलपर अलग-अलग प्रकार के सॉफ्टवेयर का निर्माण करता है। इसके अलावा सॉफ्टवेयर डेवलपर सॉफ्टवेयर को बनाना उसकी डिजाइन करना और वह सही से काम कर रहा है या नहीं उसका टेस्ट करना इत्यादि काम भी करता है। जो व्यक्ति सॉफ्टवेयर इंजीनियर होता है उसकी महीने की पगार अच्छी होती है। आजकल नए सॉफ्टवेयर बनकर कर बाजार में आ रहे हैं और आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आप जो फोन में एप्लीकेशन इस्तेमाल करते हैं वह भी यही लोग बनाते हैं।

- हार्डवेयर इंजीनियरिंग

कंप्यूटर के ऐसे पार्ट जिन्हें टच कर सकते हैं उन्हें हार्डवेयर कहते हैं। यह सभी पार्ट कंप्यूटर हार्डवेयर के अंतर्गत आते हैं। इन पार्ट्स में कीबोर्ड माउस प्रिंटर स्कैनर सीपीयू इत्यादि शामिल है। अगर कंप्यूटर का कोई भी पार्टी सही ढंग से काम नहीं करता है या फिर काम करना बंद कर देता है तो उसे सही करने का काम हार्डवेयर इंजीनियर करते हैं। इनकी भी महीने की पगार काफी अच्छी होती है।

कंप्यूटर इंजीनियर हेतु शैक्षिक योग्यता|Education Qualification to Be Computer engineer Hindi me

अगर आप कंप्यूटर इंजीनियर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 12वीं कक्षा फिजिक्स, केमिस्ट्री और गणित के विषय के साथ कम से कम 60% अंकों के साथ पास करनी पड़ेगी।

कंप्यूटर इंजीनियर बनने हेतु लिखित परीक्षा|Written exam jankari For Computer engineer In Hindi me

12वीं कक्षा पास करने के बाद अगर आपको कंप्यूटर इंजीनियर बनना है तो इसके लिए आपको सबसे पहले एक एंट्रेंस एग्जाम देनी होगी। इसके लिए आपको लिखित परीक्षा के लिए आवेदन देना होगा और इस परीक्षा को पास करना होगा। हमारे देश में ऐसे इंस्टीटयूट है, जहां से आप कंप्यूटर इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर सकते हैं। इनमें से कुछ इंस्टिट्यूट के नाम हम आपको नीचे दे रहे हैं।

1.All India Engineering Entrance Exams (AIEEE).

2.BITSAT.

3.COMEDK Undergraduate Entrance Test.

4.Delhi University Combined Entrance Examination.

5.EAMCET (Engineering, Agriculture and Medicine Common Entrance Test).

6.Goa Common Entrance Test (CET).

7.Indian Institute of Technology Joint Entrance Exam (IIT JEE).

8.Kerala Law Entrance Examination (KLEE).

9.Orissa Joint Entrance Exam (JEE).

10.SRM University Engineering Entrance Exam.

काउंसलिंग के बाद इंस्टिट्यूट का सिलेक्शन|Computer engineering College Selection Counseling Ke Baad

आप जब एंट्रेंस एग्जाम को क्लियर कर लेंगे तो उसके बाद आपको एडमिशन के लिए कॉलेज में काउंसलिंग करनी होगी, जिसमें आपको आपके अंक अथवा रैंक के हिसाब से कॉलेज दिया जाएगा। आपके अंक जितने अच्छे होंगे आपको उतना ही अच्छा कॉलेज मिलेगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कंप्यूटर इंजीनियर के कोर्स की अवधि 4 साल की होती है। इसीलिए आपको 4 साल बहुत मेहनत करनी पड़ेगी।

कंप्यूटर इंजीनियर का भविष्य|Future of Computer engineer in india in Hindi me jankari

कंप्यूटर इंजीनियर एक बहुत ही महत्वपूर्ण कोर्स है। इसलिए इसमें रोजगार की अपार संभावनाएं है।जादातर कंप्यूटर इंजीनियर प्राइवेट सेक्टर में जाने का प्रयास करते हैं क्योंकि प्राइवेट सेक्टर में महीने की पगार अच्छी काफी मिलती है। इसके अलावा कुछ विद्यार्थियों का सिलेक्शन कोर्स समाप्त होने के बाद केंपस सिलेक्शन के द्वारा हो जाता है जिससे उन्हें कोर्स समाप्त करने के बाद तुरंत नौकरी मिल जाती है।

कंप्यूटर इंजीनियरिंग के बाद रोजगार के अवसर|Jobs After Computer engineering in india and Abroad 

सॉफ्टवेयर डेवलपर 

एडवरटाइजिंग एंड मास कम्युनिकेशन 

रिसर्च लैब

कंप्यूटर एंड टेक्नोलॉजी मैन्युफैक्चरर्स

डिजिटल कंसलटिंग फर्म 

सेमीकंडक्टर कंपनी 

आर्म्ड फोर्स 

रेलवे 

गवर्नमेंट एजुकेशनल सिस्टम 

बिजनेस एंटरप्राइज

कंप्यूटर इंजीनियर की सैलेरी|salary of Computer engineer in India in Hindi me

अगर हम कंप्यूटर इंजीनियर की सैलरी के बारे में बात करें तो इनकी महीने की सैलरी 30000 से लेकर 45000 के बीच होती है।

0 Comments