Gate exam क्या है और गेट परीक्षा की तैयारी कैसे करे| What is Gate exam in Hindi me Details And info.

Gate Exam Details in Hindi me:
अगर हम Gate Exam के फुल फॉर्म के बारे में बात करें तो इस का फुल फॉर्म होता है ग्रेजुएट एप्टिट्यूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग।इस एग्जाम के आयोजन का मकसद यह होता है कि इस एग्जाम के द्वारा आपकी इंजीनियरिंग और साइंस के विषय पर कितनी समझ है, इसको टेस्ट करना।

अगर आपको यह नहीं पता कि गेट एग्जाम क्या होती है तो चिंता करने की कोई बात नहीं है क्योंकि आज के इस आर्टिकल में हम आपको इससे जुड़ी हुई सभी जानकारी देने वाले हैं, चलिए चलते हैं मुख्य मुद्दे पर।

गेट एग्जाम क्या है|What is GATE exam Details in Hindi me 
 
यह एक नेशनल लेवल की परीक्षा है और
इसका फुल फॉर्म होता है ग्रेजुएट एप्टिट्यूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस परीक्षा के द्वारा विद्यार्थियों को पीएचडी और एमटेक के कोर्स में प्रवेश मिलता है।इस परीक्षा को भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान संस्थान (आईआईएससी) बैंगलोर द्वारा राष्ट्रीय समन्वय बोर्ड गेट (GATE) उच्च शिक्षा विभाग, मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) भारत सरकार और सात भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) के माध्यम से आयोजित किया जाता है।इस परीक्षा का आयोजन रोटेशनल प्रकार से किया जाता है।इस परीक्षा के आयोजन की जिम्मेदारी भारत की 8 संस्थाओं को दी गई है।आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस परीक्षा का आयोजन ऑनलाइन होता है।

योग्यता|Eligibility for Gate exam hindi me Details 

अगर आप गेट की परीक्षा देना चाहते हैं तो इस परीक्षा को देने के लिए आपके पास बी टेक, बीई या बी फार्मा इंजीनियरिंग की ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए।  

अगर आपके पास बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर की डिग्री है तब भी आप इस परीक्षा को दे सकते हैं।

अगर आपके पास बीएससी की डिग्री है तब भी आप इस परीक्षा को दे सकते हैं।

एमएससी, एमए, एमसीए या समकक्ष- विज्ञान, गणित, साख्यिकी, कंप्यूटर अनुप्रयोग की किसी भी शाखा से मास्टर की डिग्री होने पर आप यह परीक्षा दे सकते हैं।

प्रोफेसनल सोसायटी परीक्षा (बीई, बीटेक, बिएआर के समकक्ष) पेशेवर सोसायटी के बीई, बीटेक, बैच समकक्ष परीक्षाएं यूपीएससी, द्वारा मान्यता प्राप्त जैसे इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स इंडिया (एएमआईसीई) सिविल इंजिनियर्स संस्थान।

इंटर एमई, एमटेक (पोस्ट बीएससी)- इंजीनियरिंग, प्रौद्योगिकी में पोस्ट बीएससी एकीकृत मास्टर डिग्री प्रोग्राम

गेट परीक्षा आयोजन का समय|Time of GATE exam in Hindi me Details 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि गेट की परीक्षा का आयोजन आमतौर पर फरवरी और मार्च के महीने में होता है 

गेट की परीक्षा पैटर्न|exam pattern of GATE exam hindi me

सबसे पहले आपको बता दें कि गेट की परीक्षा में माइनस मार्किंग की जाती है। माइनस मार्किंग अर्थात अगर आपने किसी सवाल का गलत जवाब दिया है तो गलत जवाब देने के लिए भी आपके कुल प्राप्तांक अंको में से कुछ अंग कटेंगे। गेट की परीक्षा का आयोजन ऑनलाइन कंप्यूटर के माध्यम से होता है और इसमें टोटल 65 सवाल पूछे जाते हैं तथा इन 65 सवालों के लिए 100 अंक निर्धारित होते हैं।यह परीक्षा दो भागों में होती है। इस परीक्षा में इंजीनियरिंग मैथ, जनरल एप्टीट्यूड और इंजीनियरिंग से जुड़े हुए सवाल पूछे जाते हैं। इस परीक्षा में मल्टीपल चॉइस अर्थात एमसीक्यू और खाली जगहों को भरने वाले सवाल भी पूछे जाते हैं।

गेट परीक्षा की तैयारी कैसे करें|preparation of GATE exam in Hindi me tayari Kaise Kare

गेट की परीक्षा काफी कठिन परीक्षा होती है, इसीलिए इस परीक्षा को पास करने के लिए सबसे पहले आपको मानसिक रूप से मजबूत होना होगा और आपको अपने अंदर यह विश्वास लाना होगा कि आप इस परीक्षा को अच्छे अंको से पास कर सकते हैं।

इस परीक्षा की तैयारी के लिए आपको लगभग 6 महीने पहले से ही इस परीक्षा की तैयारी शुरू करनी पड़ेगी क्योंकि यह एक कठिन परीक्षा होती है, साथ में ही इस परीक्षा के लिए आपको काफी धैर्य भी रखना होगा और आपको मन लगाकर पढ़ाई करनी होगी।

गेट की परीक्षा को पास करने के लिए आपको इसके सिलेबस, इसका परीक्षा पैटर्न, इसका प्रारूप और इसमें शामिल सभी विषय के बारे में अच्छी जानकारी होना आवश्यक है। इसलिए गेट की परीक्षा के बारे में पूरी जानकारी हासिल करने का प्रयास करें।

किसी भी परीक्षा की अच्छे से तैयारी करने के लिए टाइम टेबल का निर्माण करना जरूरी होता है क्योंकि टाइम टेबल से आपको यह पता चलता है कि आपको कौन से दिन किस विषय का अभ्यास करना है तथा कितने समय करना है।

किसी भी परीक्षा को पास करने के लिए उस पर पूरा ध्यान देना होता है, इसीलिए अगर आप गेट की परीक्षा पास करना चाहते हैं तो अनुशासन का ख्याल अवश्य रखे। इसके अलावा फालतू के कामों में अपना ध्यान ना दें।

अगर आप इस परीक्षा को अच्छे अंको से पास करना चाहते हैं तो इस परीक्षा के पूर्व में जितने भी पेपर हुए हैं उन्हें हासिल करने का प्रयास करें और उन्हें अच्छे से समझने का प्रयास करें।इससे आपको इस परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों की कठिनता के बारे में जानकारी मिलेगी।

इस परीक्षा की तैयारी करते समय सभी सवालों और जवाबों के नोट्स अवश्य बनाएं क्योंकि इससे आपको रिवीजन करने में सहायता मिलेगी।

जब भी आप इस परीक्षा की तैयारी करने बैठे तो उस समय अपना मोबाइल स्विच ऑफ रख दे ताकि आपको डिस्टर्ब ना हो और आप अपना सारा ध्यान परीक्षा की तैयारी में लगा पाए।

0 Comments