एमटीएस की तैयारी कैसे करें

एमटीएस की परीक्षा का आयोजन कर्मचारी चयन आयोग द्वारा किया जाता है।आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एमटीएस की परीक्षा का आयोजन हर साल नवंबर अथवा दिसंबर महीने के बीच किया जाता है। इसका पूरा नाम मल्टी टास्किंग स्टाफ होता है और जो व्यक्ति इस पद पर नियुक्त होता है उससे कार्यालय से संबंधित कई प्रकार के काम कराए जाते हैं। यदि परीक्षा की तैयारी की तैयारी अच्छे से किए जाए तो इस परीक्षा में आसानी से सफलता प्राप्त कर सकते हैं। एमटीएस की तैयारी कैसे करते हैं इसके बारे में हम आपको नीचे विस्तार से बता रहे हैं, चलिए जानते हैं।

एमटीएस परीक्षा|SSC mts exam information 

इस परीक्षा का आयोजन दो चरणों में होता है। इसे अंग्रेजी भाषा में टियर 1 और टियर 2 कहते हैं। टियर 1 के तहत ऑनलाइन परीक्षा का आयोजन किया जाता है, जिसमें सभी प्रश्न वस्तुनिष्ठ होते हैं। इस परीक्षा में टोटल 100 सवाल आते हैं, जिनका जवाब देने के लिए 90 मिनट का समय दिया जाता है।
हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं के प्रश्न इस परीक्षा में एक ही पेज पर छपे हुए होते हैं इसलिए प्रश्नों को भलीभांति समझा जा सकता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस परीक्षा में माइनस मार्किंग भी होती है। अगर आपने किसी प्रश्न का जवाब गलत दिया तो आपके 0.25 अंक कट जाएंगे। एसएससी में एमटीएस का ग्रेड पे 1800 है।

एमटीएस की परीक्षा को चार चरणों में विभाजित किया गया है, जिसमें प्रत्येक चरण के 25 अंक होते हैं।इसके चार चरण निम्नलिखित है।

1.तर्कशक्ति – 25 अंक 
2.गणित – 25 अंक 
3.अंग्रेजी – 25 अंक
4.सामान्य ज्ञान – 25 अंक

एमटीएस टियर 2 एक वर्णनात्मक परीक्षा होती है।इसकी परीक्षा में निबंध लिखने को दिया जाता है।आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आप निबंध संविधान की आठवीं सूची में सम्मिलित किसी भी भाषा में लिख सकते है। 

निबंध को लिखने के लिए 30 मिनट का समय दिया जाता है और यह एग्जाम 50 अंकों की होती है। इसमें माइनस मार्किंग नहीं होती है। जो अभ्यर्थी tier1 परीक्षा में सफल हो जाता है वही इस परीक्षा में भाग ले सकता है।

एसएससी एमटीएस परीक्षा की तैयारी कैसे करें|How to prepare for SSC MTS 

जो अभ्यर्थी इस परीक्षा की तैयारी करना चाहता है, उसे इसके पूरे सिलेबस की अच्छी जानकारी होना आवश्यक है। जब अभ्यर्थी को इसके सभी सिलेबस की जानकारी होगी तो उससे कोई भी मुद्दा छूट नहीं पाएगा और वह अच्छे से तैयारी कर पाएगा।

आप चाहे तो इस परीक्षा की तैयारी करने के लिए किसी अच्छे कोचिंग इंस्टिट्यूट की सहायता भी ले सकते हैं।इस परीक्षा की तैयारी करने के लिए हमेशा नई पुस्तकों का ही इस्तेमाल करना चाहिए।

इस परीक्षा हेतु कठिन पढ़ाई से अधिक स्मार्ट पढ़ाई करनी चाहिए। इसके अलावा परीक्षा देने के लिए आपको जो समय दिया गया है उससे पहले ही परीक्षा केंद्र पर पहुंच जाएं। ऐसा करने से आपको परीक्षा के लिए मानसिंह संतुलन मिलेगा,साथ ही परीक्षा केंद्र पर जो भी दिशा निर्देश दिए जाएंगे उसके बारे में भी आपको पता रहेगा।

अगर आप इस परीक्षा के लिए तैयारी कर रहे हैं तो इसमें किसी भी मुद्दे को याद करने से पहले उसके बारे में अच्छी तरीके से पढ़ लें तथा उसके मेन मेन बिंदुओं को पढ़ ले और उसके बाद लिखने का प्रयास करें। जब भी आप कुछ भूलने लगे तो फिर से उसका रिवीजन कर ले।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस परीक्षा में माइनस मार्किंग की जाती है। इसीलिए किसी भी प्रश्न का जवाब देने के लिए पहले सोच विचार अवश्य करें वरना कहीं ऐसा ना हो कि माइनस मार्किंग के कारण आपके अंक काम आए और आप इस परीक्षा को पास ना कर पाए।

जैसा कि आप जानते हैं कि इस परीक्षा के लिए समय निर्धारित होता है, इसीलिए अगर किसी सवाल में आपको ज्यादा समय लग रहा है तो उसे छोड़कर अन्य सवाल करें क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि किसी सवाल में ज्यादा समय लगने के कारण अभ्यर्थी सभी सवालों का जवाब नहीं दे पाता है और वह परीक्षा में असफल हो जाता है। इसके अलावा सभी प्रश्नों का जवाब समय सीमा के अंदर ही देने का प्रयास करें।

प्रश्नों को हल करने के लिए शार्ट कट ट्रिक्स का प्रयोग करना चाहिए।किसी भी प्रश्न को हल करने के लिए अपने तरीके बनाने का प्रयास करे।पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों को हल करना चाहिए, जिससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा।

ब्लड रिलेशन पर आधारित प्रश्नों को अपनी पारिवारिक संरचना पर लागू करें। इससे चीजें आपके लिए और अधिक स्पष्ट हो जायेंगी।

0 Comments