Food Technology में करियर कैसे बनाएं|How To Make Career In Food Technology

Food Technology Kya Hai Aur Isme Career Kaise Banaye: इस दुनिया में व्यक्ति को जीवन यापन करने के लिए जैसे अन्य चीजों की आवश्यकता होती है वैसे ही मानव के लिए भोजन भी काफी महत्वपूर्ण चीज है। बिना भोजन के किसी भी जीव की जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती। व्यक्ति को काम करते रहने के लिए, ऊर्जा के लिए और जीने के लिए दैनिक रूप से भोजन की आवश्यकता पड़ती है, जिसे वह विभिन्न खाद्य पदार्थों द्वारा पूरा करता है।यह तो आप जानते हैं कि परिवर्तन सृष्टि का नियम है। आज के समय में जैसे बाकी सभी चीजों में बदलाव हुआ है वैसे ही हमारे खान-पान में भी काफी बदलाव हुआ है।

जैसा कि आप जानते हैं कि हमारा भारत देश कृषि प्रधान देश है और यहां की लगभग 70% आबादी गांवों में निवास करती है और गांवों से ही भारत के शहरों को रोटी मिलती है। हमारे भारत में फल और सब्जियों का उत्पादन अधिक होता है, इसी कारण आज बहुत सारी देसी और अंतरराष्ट्रीय फूड प्रोसेसिंग कंपनियां हमारे देश में स्थापित हो रही है, जिसके कारण फूड टेक्नोलॉजी में युवाओं के लिए बहुत ही सुनहरा मौका है।भारत विश्व में फलों के उत्पादन में 9 प्रतिशत, सब्जियों में 9.3 प्रतिशत योगदान देता है।

भारत में फूड टेक्नोलॉजी की मैन्युफैक्चरिंग और सेलिंग में अथाह फायदा है, इसीलिए बहुत सारी देसी और मल्टीनेशनल फूड प्रोसेसिंग कंपनियां हमारे देश में स्थापित हो रही है परंतु हमारे देश में इस क्षेत्र में स्किल्ड लोगों की काफी कमी है और जहां पर कंपटीशन कम होता है वहां पर तरक्की जल्दी मिलती है। यही प्रमुख कारण है कि आपको इस क्षेत्र में बहुत से करियर विकल्प मिलेंगे। अगर आपने भी फूड टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में करियर बनाने की सोच ली है, तो यह लेख आपके लिए है। आइए जानते हैं कि फूड टेक्नोलॉजी क्या है? और इसमें अपना करियर कैसे बनाएं।

फूड टेक्नोलॉजी क्या है|What is food Technology in Hindi me 

फूड प्रोसेसिंग सेक्टर के अंतर्गत वह सभी कार्य सम्मलित किये जाते है, जिनसे प्रोस्सेड फूड जैसे- मक्खन, सॉफ्ट ड्रिंक, जेम व जेली, फ्रूट जूस, बिस्कुट, आइसक्रीम आदि की गुणवत्ता, स्वाद और रंग-रूप सुरक्षित रहे, इसके अतिरिक्त इसमें कच्चे और बनें हुए माल की गुणवत्ता, स्टोरेज तथा हाइजिन आदि का भी निरिक्षण किया जाता है, कच्चे माल से लेकर प्रोडक्ट बननें तक कम्पनी द्वारा इसकी प्रत्येक स्तर पर जाँच की जाती है।

अगर विश्व स्तर पर देखा जाए तो किसी भी कंपनी का पूरा भविष्य सिर्फ फूड टेक्नोलॉजी पर ही डिपेंड रहता है। इसीलिए फूड प्रोसेसिंग करने वाली कंपनियां अपने लेबोरेटरी में अनुभव शील फूड साइंटिस्ट की भर्ती करती है, ताकि कंपनी पर लोगों का विश्वास बना रहे और किसी भी कंपनी को मार्केट में टिके रहने के लिए अपने माल की गुणवत्ता और ग्राहकों के विश्वास पर विशेष ध्यान देना पड़ता है।

वर्तमान के समय में फूड टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके खाद पदार्थों की प्रोसेसिंग करके उन्हें बहुत बड़ी मात्रा में खराब होने से बचाया जा सकता है तथा अच्छी क्वालिटी और पोषक तत्वों से भरपूर भोजन सामग्री बाजार में उपभोग हेतु उपलब्ध कराया जा सकता है। इससे रोजगार में भी काफी वृद्धि होगी।

फूड टेक्नोलॉजी में योग्यता|Food Processing Career Eligibility in Hindi me 

अगर आप फूड टेक्नोलॉजी में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो इस क्षेत्र में अपना कैरियर बनाने के लिए आपको केमिस्ट्री, बायोलॉजी, फिजिक्स अथवा गणित विषयों के साथ 12वीं कक्षा में कम से कम 50% अंक लाना अनिवार्य है। इस क्षेत्र में स्नातक करनें के बाद आप फूड टेक्नोलॉजी से एमएससी की उपाधि प्राप्त कर सकते है।

फूड टेक्नोलॉजी के क्षेत्र|Food technology sector in Hindi me 

फूड टेक्नोलॉजी में दो क्षेत्र है, पहला मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस, दूसरा वैल्यू ऐडेड प्रोसेस। इन दोनों के बारे में हम आपको विस्तार से बताते हैं।

1.मैनुफैक्चर्ड प्रोसेसेज

मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस में कच्चे माल के रूप में कृषि उत्पादों और पशुओं से मिलने वाले उत्पादों के भौतिक स्वरूप में बदलाव करके इसे खाने और बेचने के योग्य बनाया जाता है। उदाहरण के तौर पर दूध का पाउडर, बटर, आइसक्रीम इत्यादि

2.वैल्यु एडेड प्रोसेसेज

वैल्यू ऐडेड प्रोसेस के अंतर्गत खाद पदार्थों में ऐसे परिवर्तन किए जाते हैं जिससे वह अधिक समय तक खाने योग बना रहे तथा जल्दी खराब ना हो। जैसे टमाटर से सॉस बनाना या फिर दूध में से आइसक्रीम बनाना।

फूड प्रोसेसिंग कैरियर के प्रमुख कोर्स|Food Processing Career Major Course in Hindi me 

1.बीएससी (ऑनर्स) फूड टेक्नोलॉजी
(3 years)

2.बीटेक फूड टेक्नोलॉजी
(4 years )

3.एमटेक फूड टेक्नोलॉजी
(2 years )

4.पीजी डिप्लोमा इन फूड साइंस एंड टेक्नोलॉजी
(4 years )

5.एमबीए(एग्री बिजनेंस मैनेंजमेंट
(2 years )

फूड टेक्नोलॉजी का पाठ्यक्रम|Food Technology syllabus in Hindi me 

फूड टेक्नोलॉजी के पाठ्यक्रम में छात्रों को खाने-पीने के आइटम को सही तरीके से मेंटेन करना और उनकी फ्रीजिंग, पैकेजिंग आदि टेक्निकल इंफॉर्मेशन से संबंधित चीजें पढ़ाई जाती है। इस पाठ्यक्रम के अंतर्गत विद्यार्थियों को मीट, फ्रूट,वेजिटेबल, फीस आदि खाद्य पदार्थों की प्रोसेसिंग करना और उनके न्यूट्रिशन से संबंधित बातें भी बताई जाती है।

फूड प्रोसेसिंग संस्थान|Food Processing Career University

1.यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली, दिल्ली
www.du.ac.in

2.इंदिरा गांधी नेंशनल ओपन यूनिवर्सिटी, मैदानगढी, दिल्ली
www.ignou.ac.in

3.जी. बी. पंत यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रिकल्चर ऐंड टेक्नोलॉजी, पंतनगर, उत्तराखंड
www.gbpuat.ac.in

4.बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी, झांसी, उत्तर प्रदेश
www.bujhansi.org

5.कानपुर यूनिवर्सिटी, कानपुर, उत्तर प्रदेश
www.kanpuruniversity.org

6.कोलकाता विश्वविद्यालय, कोलकाता
www.caluniv.ac.in

7.गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी, अमृतसर, पंजाब
http://www.gndu.ac.in 

8.मुंबई यूनिवर्सिटी, मुंबई
www.mu.ac.in 

9.नागपुर यूनिवर्सिटी, नागपुर
www.nagpuruniversity.org

10.सेंट्रल फूड टेक्नोलॉजी रिसर्च इंस्टीट्यूट, मैसूर
www.cftri.com 

11.बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मेंसरा, रांची, बिहार
www.bitmesra.ac.in

फूड टेक्नोलॉजिस्ट की पढ़ाई के लिए स्कॉलरशिप|Scholarship for food Technology Course in Hindi me 

अगर आप फूड टेक्नोलॉजी में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो इसमें आपको सरकारी सहायता भी मिल सकती है। कहने का मतलब है कि आपको स्कॉलरशिप मिल सकती है। एनएएआरएम आईसीएआर सीनियर रिसर्च फैलोशिप, रामालिंगास्वामी फैलोशिप इस क्षेत्र की दो बड़ी स्कॉलरशिप हैं। इसके अलावा एग्री बायोटेक फाउंडेशन, एबीएफ पीएचडी फैलोशिप, एसके पाटिल लोन स्कॉलरशिप व जेएन टाटा इनडोमेंट स्कॉलरशिप आदि छात्रों की राह आसान बनाती हैं।

फूड टेक्नोलॉजी के लिए एजुकेशनल लोन|Educational Loan for Food  Technology in Hindi me 

अगर आप फूड टेक्नोलॉजी में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं परंतु आपके पास इस कोर्स को करने के लिए पैसे नहीं है तो आप इस कोर्स को करने के लिए भारत के प्रमुख राष्ट्रीय, प्राइवेट अथवा विदेशी बैंकों द्वारा एजुकेशन लोन प्राप्त कर सकते हैं। एजुकेशन लोन प्राप्त करने के लिए विद्यार्थी को जिस संस्थान में एडमिशन लेना होता है, वहां से जारी ऐडमिशन लेटर, ट्यूशन फीस, हॉस्टल खर्च एवं अन्य खर्चों का विवरण बैंक को देना होता है, साथ ही माता-पिता का आय संबंधी प्रमाण पत्र बतौर गारंटर जमा करना पड़ता है।

फूड टेक्नोलॉजिस्ट के गुण|Properties of food technologists in Hindi me 

जैसा कि आप जानते हैं कि किसी भी काम को करने के लिए उस काम में रुचि होना अनिवार्य है। इसी तरह फूड टेक्नोलॉजिस्ट के अंदर भी साइंटिफिक आकलन की क्षमता, स्वास्थ्य एवं न्यूट्रिशन में रुचि, काम के प्रति पूर्ण इंटरेस्ट जैसे गुण होना जरूरी है। एक फूड टेक्नोलॉजिस्ट को टीम के एक महत्वपूर्ण अंग के रूप में काम करना होता है इसलिए उसकी कम्युनिकेशन स्किल भी काफी अच्छी होनी चाहिए। इसके अलावा भी उसे फुड और न्यूट्रिशन के संदर्भ में होने वाले सेंटिफिक और टेक्नोलॉजिकल बदलाव के बारे में हमेशा अपडेट रहने की आदत होनी चाहिए।

फूड टेक्नोलॉजी में रोजगार के अवसर|Employment opportunities in food technology in Hindi me 

इस कोर्स को करनें के पश्चात जॉब के बहुत से विकल्प खुल जाते है।आप फूड प्रोसेसिंग यूनिटों, रिटेल कंपनियों, होटल, एग्री प्रोडक्टस का उत्पादन करनें वाली कंपनियों में आप जॉब प्राप्त कर सकते हैं।इसके बाद आप खाद्य वस्तुओं की गुणवत्ता जांचने, उनके निर्माण कार्य की निरिक्षण करनें और खाद्य वस्तुओं को अधिक समय तक संरक्षित करने की तकनीको पर काम करने वाली प्रयोगशालाओं में भी जॉब प्राप्त कर सकते है।

फूड टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में वेतन|Salary in food Technology career in Hindi me 

इस क्षेत्र में नौकरी करने वाले व्यक्ति को शुरुआती तौर पर 10,000 से लेकर 15000 तक प्रतिमाह की नौकरी आसानी से मिल जाएगी और जैसे-जैसे व्यक्ति इस क्षेत्र में एक्सपीरियंस और काबिलियत हासिल करता जाएगा वैसे वैसे उसकी सैलरी में भी बढ़ोतरी होती जाएगी। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस क्षेत्र में फिलहाल कुशल लोगों की बहुत ही कमी है, लिहाजा इस नजरिए से देखा जाए तो आपके लिए यह क्षेत्र बहुत ही लाभदायक सिद्ध हो सकता है। 

0 Comments